Pulwama Attack : देश के लिए बेटे ने दी जान, सब शहीद आश्विन के पिता कहकर बुलाते है

Three Year Of Pulwama Attack : 

पुलवामा आतंकी हमले को आज पूरे 3 साल हो गए है और देश उन सभी जवानों को याद कर रहा है। जिन्होंने उस आतंकी हमले में अपनी जान गवाई थी। 14 फरवरी साल 2019 वो खउफनाक दिन जिसके बारे में सोचने से ही दिल दहल उठता है। इस दिन भारत ने अपने 40 जवानो को खोया था देश आज भी इस सदमे से उभर नहीं पाया है।

पिता पर क्या गुजरी जब पता चला :

साल 2019 के उस खौफनाक मंजर को याद कर आश्विन के पिता सहम जाते है। उनका कहना वो रात 11 बजे का वक़्त था जब उन्हें बताया गया कि उनके बेटे अश्विन देश के लिए शहीद हो गया है। उनका कहना है कि उस वक़्त उन्हें कुछ भी समझ नहीं आ रहा था कि आश्विन की माँ को ये कैसे बताये कि उनका बेटा अब नहीं रहा।

Pic Credit – Hindi.news18.com

आश्विन के पिता ने इन सब के अलावा कहा कि जब भी मैं किसी और बेटे की शहीद होने की खबर सुनता हूँ। तो मेरे जख्म फिर से हरे हो जाते है लगता है जैसे कल ही कोई बेटे की शहीद होने की खबर लेके आया था। लेकिन मुझे गर्व है मेरे बेटे पर उसने जाते जाते मेरा सर गर्व से ऊंचा उठा दिया है। मुझे गर्व है अपने बेटे पर।

सरकार ने नहीं किये सभी वादे पूरे :

अश्विन के पिता का कहना है सरकार द्वारा किये गए सभी वादे पूरे नहीं हुए है। सरकार ने उन्हें आर्थिक सहायता तो दे दी है मगर और भी कई बातें थी जो आज भी अधूरी है। जैसे एक करोड़ रुपए की सहायता, शहीद की प्रतिमा स्थापना, शहीद के नाम का पार्क, परिवार के एक सदस्य को नौकरी और स्कूल का नामकरण शहीद के नाम।

Pic Credit – Bhaskar.com

आश्विन के भाई का कहना है अभी तक आज 3 साल हो गए उनके परिवार में किसी को भी नौकरी नहीं मिली और ना ही किसी स्कूल का नाम उनके भाई के नाम पर रखा गया और ना ही किसी पार्क की योजना बनाई गयी। मगर परिवार को सरकार से उम्मीद है की वो अपने वादे जल्द पूरे करेगी।

घर में आश्विन की माँ करती है उसकी पूजा :

अश्विन की माँ ने अपने घर में एक मंदिर बना रखा है। जिसमें वे अपने बेटे की तस्वीर रखती है। मंदिर में शहीद की एक फोटो और उसकी वर्दी के साथ साथ उस तिरंगे को भी रखा गया है। जिसमे अंतिम बार आश्विन लिपट कर वापस आया था।

Pic Credit – Patrika.com

 

Leave a Comment