एक गरीब किसान की पांच बेटियों ने किया देश का नाम रोशन, बानी IAS, SI….

राजस्थान के जयपुर जिले के कोटपूतली उपखण्ड के गांव शुक्लाबास के रहने वाले राधेश्याम यादव जिन्होंने अपनी पांच बिटियों को काबिल बनाने के लिए कभी डीजल बेचने की दुकान शुरू की, कभी ट्रक चलाया, और खेतों में जाकर मजदूरी भी की और अपनी सारी बेटियों को इतना काबिल बना दिया की उन्होंने एक कामयाबी की कहानी ही लिख दी एक समय ऐसा था की पांचों बहनों को सभी लोग ताने देते थे परन्तु आज वहीँ लोग इन पर गर्व करते है।

farmer s daughters became engineer ias si assistant professor and super model
Credit:- hind.ioneindia.com

राधेश्याम यादव की बेटियों ने साबित कर दिया की वो पढ़ने लिखने और आगे बढ़ने में सबसे आगे रही है किसी ने सही ही कहा है की अगर बेटियों को आगे बढ़ने का अवसर मिले तो बेटियां कमाल ही कर दिखा देती है।

वन इण्डिया हिंदी से बात चित करते हुए राधेश्याम यादव और उनकी पत्नी कमला यादव ने बताया की उनकी बेटियों की सफलता का अंदाजा इस तरह लगा सकते है की वे सॉफ्टवेयर इंजिनियर, सब इंस्पेक्टर, आईएएस, असिस्टेंट प्रोफ़ेसर व सुपर मॉडल बनकर अपने माता पिता का नाम रोशन कर रही है बेटियों के साथ ही उनके दो दामाद भी आईएएस अधिकारी है।

1. संजू यादव, सॉफ्टवेयर इंजिनियर

राधेश्याम यादव की सबसे बड़ी बेटी संजू यादव जो की सॉफ्टवेयर इंजीनियर है जो की NOIDA में कार्य करती है संजू यादव की शादी भी इंजिनियर से हुई है जो सूरत में पदस्थ है संजू यादव ने अलवर से इंजीनियर की पढ़ाई की है।

farmer s daughters became engineer ias si assistant professor and super model
Credit:- hindi.oneindia.com

2. अनीता यादव, IAS यूपी कैडर

राधेश्याम यादव की दूसरे नंबर की बेटी अनीता यादव जो की अपनी बड़ी बहन संजू यादव से एक कदम आगे निकल गई क्योकि पहले आरएएस व फिर आईएएस बन गई अब अनीता यादव इस समय आयोध्या में मुख्य विकास अधिकारी पद पर अपनी सेवाएं दे रही है अनीता यादव के पति धनश्याम मीणा जो की आईएएस है जो की इस समय आंबेडकर नगर में तैनात है।

3. आँचल यादव, सब इंस्पेक्टर दिल्ली पुलिस

राधेश्याम यादव की तीसरे नंबर की बेटी आंचल यादव जो की दिल्ली में पुलिस से अब इंस्पेक्टर बन गई है आंचल यादव ने 2020 में जयपुर के पास चौमू निवासी IAS प्रतिकराज यादव से शादी की है प्रतीक यादव अण्डमान और निकोबार में पोस्टेड है।

farmer s daughters became engineer ias si assistant professor and super model
Credit:- hindi.oneindia.com

4. भावना यादव, असिस्टेंट प्रोफ़ेसर प्रतापगढ़

भावना यादव भी अपनी तीनों बड़ी बहनों की तरह अपनी काबिलियत को साबित कर दिखाया है भावना यादव ने जयपुर के महारानी कॉलेज से ग्रेजुएशन की है और अब भावना यादव प्रतापगढ़ जिले में सरकारी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में पढ़ा रही है भावना ने नेट व अर्थशास्त्र से पीएचडी भी कर रखी है।

5. निशा यादव, मॉडलिंग

चार बड़ी बहनों की तरह नौकरी करने के बजाय राधेश्याम यादव की पांचवीं बेटी निशा यादव ने मॉडलिंग के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है निशा यादव ने कूकस स्थित आर्य इंजीनियरिंग कॉलेज से ग्रेजुएशन की है और साथ ही एलएलबी भी कर रही है मॉडलिंग के साथ साथ निशा यादव दिल्ली की 30 हजार कोर्ट से वकालत भी कर रही है |

वन इण्डिया हिंदी से बात चित करते हुए मॉडल निशा यादव बताती है की मॉडलिंग के क्षेत्र में जाने के लिए उनका बचपन से ही सपना था उन्होंने अपना सपना अब पूरा कर दिया निशा यादव एमटीवी के शो इंडियाज नेक्स टॉप मॉडल 2018 की फर्स्ट रनरअप रह चुकी है इसके साथ ही फैशन विक पुल की मॉडल के रूप में काम भी कर लिया है।

राधेश्याम यादव का कहना है की उन्होंने कभी भी अपनी पांचों बेटियों से केसा भी फर्क नहीं किया उनकी पत्नी कमला यादव हाउस मेकर है पति पत्नी दोनों ने ही बेटा बेटी में कोई भी फर्क नहीं किया राधेश्याम यादव के घर की आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर थी उसके बावजूद भी उन्होंने अपनी बेटियों को इतना पढ़ाया लिखाया आगे बढ़ने के हर अवसर उनका साथ दिया और इन सब का नतीजा आज हम सबके सामने है।

राधेश्याम यादव की बेटी अनीता यादव जो आरएएस बनने के बाद जयपुर के झालाना स्थित आयकर कार्यालय में पोस्टेड हुई है वंही पर बतौर आरएएस जयपुर के बस्सी निवासी अधिकारी धनश्याम मीणा भी कार्य रत रह चुके है इन दोनों ने 2015 में लव मैरिज की और साथ ही अपनी पढ़ाई भी जारी रखी उसके बाद दोनों ने आईएएस बनने में सफलता प्राप्त की है।

farmer s daughters became engineer ias si assistant professor and super model
Credit:- hindi.oneindia.com

IAS अनीता यादव को यूपी से कैडर मिला उनके पति मीणा पहले ही बिहार में कैडर आईएएस बन चुके थे अनीता के आईएएस बनने के बाद उनके पति घनश्याम मीणा भी कैडर बदलकर बिहार से यूपी आ गए अनीता यादव और उनके पति घनश्याम यादव दोनों आईएएस बन कर पहली बार गांव शुक्लाबास पहुचें तो उनके स्वागत के लिए पलक पांवड़े बिछा दिए गांव जाने के बाद घोड़ी पर बैठकर उनका जुलुस निकाला गया।

निशा यादव कहती है की माता पिता ने कभी भी बेटा बेटी में कोई फर्क नहीं देखा उन्होंने आगे बताया की उन्होंने संयुक्त परिवार में वो दिन भी देखे जब हम बेटियों को दूध दही तक से यह बोलकर वंचित रखा जाता था और सभी का यही कहना था की इतनी सारी बेटियां कौनसी अफसर बन जाएगी परन्तु आज इन बेटियों ने उन सभी ताने को सच साबित कर दिखाया।

राधेश्याम यादव और उनकी पत्नी कमला यादव ने पांच बेटियों होने के बावजूद भी स्कुल कॉलेज इसके साथ ही बेटियों के बढ़ते कदम कभी भी नहीं रुके पांचों बहनो ने दसवीं तक की पढ़ाई सरकारी स्कुल से ही की उसके बाद जयपुर के महारानी कॉलेज, कनोडिया कॉलेज, टोंक की वनस्थली विद्यापीठ जैसी संस्थानों से प्राप्त की है।

Leave a Comment