10वीं फेल ऑटो चालक की जयपुर से स्विटजरलैंड तक की जिंदगी, गाइडिंग ने बदल दी जिंदगी

सबसे पहले आपको बता दें कि रंजीत सिंह राज की कहानी किसी फिल्म से कम नहीं है। रंजीत सिंह बचपन से ही काफी गरीब है। गरीब होने की वजह से बचपन से ही उन्हें लोगों से ताने सुनने पड़ते थे जिसकी वजह से उन्हें काफी गुस्सा आता था। लेकिन आज वह जिस मुकाम पर उपस्थित है वहां से वह इन सभी बीते हुए दिनों को याद करते हैं। बता दें कि उनका रंग काफी सावला है।

Indiatimes

कभी आज जयपुर में दर-दर की ठोकरें खाते थे लेकिन उनकी कड़ी मेहनत की वजह से आज वह स्वीटजरलैंड में है। अभी वह एक रेस्टोरेंट में काम करते हैं लेकिन उनका एक सपना है कि उनका भी एक अपना रेस्टोरेंट हो।

बात करें उनकी प्रश्न लाइफ की तो 16 साल की उम्र से ही राज ऑटो रिक्शा चलाना शुरू कर दिए थे। 2008 का टाइम चल रहा था उस समय जो लोग जयपुर घूमने आते थे ऑटो ड्राइवर उन्हें आकर्षित करने के लिए कई भाषा जैसे इंग्लिश, फ्रेंस, स्पेनिश आरती बोलते हैं। जब राज ने यह चीज देखा तब राज ने भी इंग्लिश सीखना शुरू कर दिया और सक्सेसफुली सीख भी लिए। और इंग्लिश सीखना राज के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित हुआ।

NRI affair

इसके बाद राज ने एक टूरिस्ट बिजनेस खोला जिसमें वह घूमने वालों को पूरे राजस्थान या फिर पूरे जयपुर घूम आते थे। राज ने जब से यह बिजनेस खोला तब से उन्हें बहुत पैसे मिल रहे थे। उनकी मुलाकात एक विदेशी महिला से हुई। इन दोनों कि इस मुलाकात से दोनों को प्यार हो गया और इन दोनों ने शादी कर ली।

NRI affair

इसके बाद राज की पत्नी अपने देश फ्रांस वापस लौट गई पर या दोनों स्काइप के जरिए एक साथ जुड़े हुए थे। फिर राज में राम जाने के लिए कई कोशिश की लेकिन उनका वीजा बार-बार रिजेक्ट हो गया। इसके कई दिनों बाद जब उनकी पत्नी वापस आई तब कई कोशिशों के बाद वह दोनों फ्रैस जा सके। फिर कई लोगों ने उन्हें फ्रेंच सीखने को कहा जिसके लिए राज मान गए और फ्रेंच सीख भी लिया। राज का एक बच्चा भी है जो बहुत ही ज्यादा क्यूट है और यह तीनों अपने जीवन में बहुत ही ज्यादा खुश है।

Leave a Comment