मंडप में दूल्हे को छोड़कर सरकारी टीचर बनने चली गई दुल्हन

आज हम आपको एक ऐसी खबर बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। काफी सारे लोगों के लिए यह खबर एक प्रेरणा का स्त्रोत भी बनेगी।

शादी के मंडप में दूल्हे को छोड़कर भागी दुल्हन ! जब लौटी तो बदल चुकी थी  'जिंदगी', जाने पूरा मामला... - UP Samachar

आज हम आपको एक ऐसी लड़की के बारे में बता रहे हैं जिसने अपनी लगन और अपनी निष्ठा का एक अद्भुत उदाहरण पेश किया है। आपको बता दें कि इस लड़की की शादी थी और यह दुल्हन बनी मंडप में बैठी हुई थी। सुबह 5 बजे के करीब जैसे ही दूल्हे ने दुल्हन की मांग में सिंदूर भरा वैसे ही यह दुल्हन मंडप से उठ करके अपनी सरकारी नौकरी की काउंसलिंग के लिए चली गई।वहां से लौटने पर यह लड़की सरकारी टीचर बन चुकी थी और नौकरी पाने के बाद इसकी विदाई हुई।

दूल्हे को मंडप में छोड़ काउंसलिंग में पहुंची दुल्‍हन, मिल गई सरकारी नौकरी  और फिर... | gonda bride reached for job counseling left her groom at mandap  during marriage rituals - Hindi Oneindia

बता दें कि यह अनोखी घटना उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में देखने को मिली है। गोंडा की रामनगर बाराबंकी निवासी प्रज्ञा तिवारी दुल्हन की वेशभूषा में मेहंदी लगी हाथों में अपने शैक्षिक डाक्यूमेंट्स लेकर के फॉर्म फिल करती हुई नजर आई।

दूल्हे को मंडप में छोड़ काउंसलिंग में पहुंची दुल्‍हन, मिल गई सरकारी नौकरी  और फिर...सरकारी टीचर बन हुई विदाई

बता दें कि इस लड़की के बालों में मोगरे के फूलों से सजा हुआ गजरा लगा हुआ था। यह लड़की अपनी शादी के मंडप से उठ कर के अपने काउंसलिंग के लिए आई थी। बुधवार को प्रज्ञा तिवारी की शादी हुई और गुरुवार सुबह 5:00 बजे इनके फेरे हो रहे थे उनके पति ने इनकी मांग में सिंदूर भरा और अपनी शादी संपन्न होते हैं यह गोंडा के बीएसए ऑफिस के लिए रवाना हो गई ।

दूल्हे को मंडप में छोड़ कर भागी लड़की, पहले बनी सरकारी टीचर बाद में बनी  दुल्हन | PEHCHAN FARIDABAD NEWS - पहचान फरीदाबाद न्यूज़

यहां प्रज्ञा की काउंसलिंग की प्रक्रिया होनी थी। काउंसलिंग की डेट तय होने के कारण प्रज्ञा को अपने फेरे और सिंदूर दान की रस्म पूरी करके काउंसलिंग के लिए निकलना पड़ा। इन्हें कई रस्मो को अधूरा भी छोड़ना पड़ा। प्रज्ञा ने अपने डॉक्यूमेंट चेक करवा करके रिसीविंग ली उस वक़्त प्रज्ञा के चेहरे पर दुगनी खुशी देखने को मिल रही थी। एक तो शादी की खुशी और दूसरी सरकारी टीचर बनने की खुशी।

शादी के बीच में काउंसलिंग कराई, फिर टीचर बन विदाई करवाई

इस मामले में प्रज्ञा का कहना है कि उनके लिए उनका कैरियर बहुत मायने रखता है। इसीलिए वह अपने ने दूल्हे को मंडप में ही छोड़कर के काउंसलिंग के लिए आई हैं। वहां सभी उनका इंतजार कर रहे हैं कि कब दुल्हन वापस आए और आगे की रस्मों को शुरू किया जाए। बता दें कि बाकी की रस्म पूरी होने के बाद प्रज्ञा अपने ससुराल के लिए विदा होंगी।

UP: मंडप में दूल्हे को छोड़कर काउंसलिंग के लिए पहुंची दुल्‍हन, सरकारी टीचर  बनकर हुई व‍िदाई | Bride reached for counseling for government teacher job  before marriage in Gonda

प्रज्ञा का यह भी मानना है कि उनका दूल्हा है उनके जीवन में उनके लिए काफी शुभता लेकर कर के आये हैं।उन्होंने अपने पति को अपना लकी चार्म भी कहा। उनके जीवन में जैसे ही उनके पति का प्रवेश हुआ प्रज्ञा को सरकारी नौकरी मिल गई।

मंडप में दूल्हे को छोड़ नौकरी की काउंसलिंग में पहुंची दुल्‍हन, सरकारी टीचर  बन हुआ व‍िदाई :

प्रज्ञा के माता पिता ने भी सभी माता-पिता उसे या निवेदन किया है कि अपनी बेटियों को खूब पढ़ाएँ, ताकि बेटी आत्म निर्भर हो सके। प्रज्ञा ने यहाँ तक पहुंचने के लिए सारा श्रेय अपने माता-पिता को दिया है।

मंडप में दूल्हेे को छोड़कर नौकरी की काउंसलिंग में पहुंची दुल्हन, लौटने पर  हुआ ये | NewsTrack

आपको बता दें कि प्रज्ञा को दुल्हन के वेशभूषा में देख कर के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने भी उन्हें शादी की बधाई दी और यह कहा कि यह बड़ी बात है कि कल ही उनकी शादी हुई और आज प्रज्ञा को नौकरी मिल गई। प्रज्ञा की नियुक्ति बेसिक शिक्षा विभाग गोंडा में शिक्षिका के पद पर हुई है। घर लौटने के बाद प्रज्ञा के घर वालों ने शादी की बच्ची रस्मों को पूरा किया और खुशी-खुशी प्रज्ञा को उनके पति के साथ ससुराल विदा कर दिया।

Leave a Comment