बिहार की बेटी की प्रतिभा को गूगल ने पहचाना, इतने लाख रुपए के पैकेज पर दी नौकरी

60 लाख का पैकेज बिहार की बेटी शालिनी झा को गूगल ने दिया। शालिनी झा भागलपुर जिले के सुल्तानगंज की रहने वाली है। शालिनी को विश्व की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी गूगल ने अपने सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर काम करने का मौका दिया है। भागलपुर की शालिनी पहली बेटी है, जिन्हें गूगल ने काम दिया है। शालिनी लगभग 21 वर्ष की है। 60 लाख का पैकेज गूगल ने शालिनी को दिया है। शालिनी के पिता का नाम कामेश्वर झा है और उनके दादाजी का नाम प्रोफेसर उमेश्वर क्षा है।

फिलहाल शालिनी दिल्ली में इंदिरा गांधी दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी फॉर वुमन से वह इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के आखिरी वर्ष की पढ़ाई कर रही है। परंतु इनके परिवार को इस बात की बहुत ज्यादा खुशी है कि शालिनी को गूगल द्वारा 60 लाख का पैकेज मिला है।

यह उनके परिवार के लिए बहुत ज्यादा गर्व की बात है कि इतनी कम उम्र में उनकी बेटी ने इतनी बड़ी पदवी हासिल की है। साथ ही जहां वहा रहती है उस जगह के नाम को भी बनाया है। साथ ही उन्होंने कई लड़कियों को प्रेरणा का स्रोत भी दिया है। आज कई लड़कियां ऐसी है जो शालिनी की तरह आत्मनिर्भर बनना चाहती है और अपने परिवार का नाम भी रोशन करना चाहती है। ऑस्ट्रेलियन सॉफ्टवेयर कंपनी ऑस्ट्रेलेशियन से 52.1 लाख का पैकेज शालिनी झा को मिला है। उन्होंने डाटा स्टोरेज कंपनी वेस्टर्न डिजिटल में 2 महीने की इंटरशिप की थी। जिसके बाद इन्हें प्री प्लेसमेंट का ऑफर मिला।

इसके बाद उन्होंने ऑफ केंपस गूगल में प्रयास किया और फिर अपने करियर पोर्टेल के द्वारा अप्लाई किया। शालिनी क्षा ने 7 राउंड के इंटरव्यू दिए। उन्हीं के इंटरव्यू के परिणाम और उनके शिक्षा के आधार पर ही गूगल इंडिया ने अपने सर्वे इंजीनियरिंग के पद के लिए इनको 60 लाख रुपए का पैकेज दिया। और उन्होंने यह भी कहा कि अभी तक उन्होंने यह ज्वाइन नहीं किया है। जब वह अपने बी-टेक की पढ़ाई पूरी कर लेंगे तो उसके बाद वह गूगल में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के पद पर जो उन्हें जॉब मिली है उसमें ज्वाइन करेंगी।

Leave a Comment