बिना हेलमेट खुलेआम घूमता है यह शख्स, पुलिस भी काट नही पाती चालान

दोस्तों जैसा की आपको पता है कुछ समय पहले सड़कों पर चलने वाले वाहन से संबंधित मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर काफी बवाल हुआ था। इस एक्ट के अंतर्गत जुर्माने की राशि को बढ़ा दिया गया था। और इन्ही बढ़ी कीमतों के कारण लोगों ने हंगामा किया था। इसे लेकर के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन भी किया गया था। जिसके बाद कुछ राज्यो ने जुर्माने की रकम को घटा दिया था।

जाकिर मेमन के साइज का हेलमेट मार्केट में नहीं मौजूद

इस सख्ती के बीच गुजरात के छोटा उदयपुर से एक चौकाने वाली घटना सभी के सामने आई थी। आपको बता दें कि यहां इतनी सख्ती के बाद भी जाकिर मेमन नामक एक युवक खुलेआम बिना हेलमेट के सड़कों पर घूमता हुआ पाया गया। बता दें कि जब पुलिस वाले इसका चालान काटने के लिए जाते थे तो जाकिर मेमन नाम के इस व्यक्ति की समस्या सुनकर के बहुत ही असमंजस में पड़ जाते थे। पुलिस वालों को समझ नही आता था कि इस व्यक्ति का चालान काटा जाए या नही।

पुलिस ने पकड़ा तो बताई कहानी

बिना हेलमेट धड़ल्ले से घूमते है जाकिर मेमन, पुलिस भी नहीं का,ट पाती चालान,  सामने है ये वजह – The Talks Today

आपको बता दें कि जाकिर मेमन एक पुलिस वाले कि पकड़ में आये। पुलिस वाले ने इन्हें हेलमेट के बिना ही गाड़ी चलाते हुए पकड़ लिया। हालांकि की जाकिर के पास गाड़ी के एवं गाड़ी से संबंधित सभी कागजात मौजूद थे। लेकिन इनके पास हेलमेट नही था। पुलिस वाले ने जाकिर से जुर्मा भरने की बात कहीं, इस पर जाकिर ने अपनी समस्या पुलिस वाले को बताते हुए यह बताया कि वो कोई भी हेलमेट नही पहन सकते हैं,क्योंकि कोई भी हेलमेट उनके सिर में आता ही नही है।

हेलमेट की दुकान लेकर गए पुलिस वाले

बिना हेलमेट धड़ल्ले से घूमते है जाकिर मेमन, पुलिस भी नहीं का,ट पाती चालान,  सामने है ये वजह – The Talks Today

जाकिर ने पुलिस वाले को बताया कि वे पिछले 12 सालों से इस समस्या के साथ ही गाड़ी चला रहे है । उन्हें कोई भी हेलमेट नही आता। इसके बाद पुलिस वाले जाकिर को अपने साथ आस पास की कई हेलमेट की दुकानों पर लेकर गए। और हर जगह यही नतीजा मिला कि जाकिर के सिर में कोई भी हेलमेट नही आ सका।

उत्तरप्रदेश

अपनी इस परेशानी के बारे में बात करते हुए जाकिर ने कहा कि वो भी कानून का सम्मान करते हैं और सभी नियमों का पालन भी करना चाहते हैं। लेकिन अभी तक उसे उनके सिर के साइज का हेलमेट नही मिल सका है। उनका कहना है कि ऐसे वह कब तक जुर्माना भरते रहेंगे।

जाकिर की इस समस्या पर बोडेली के ट्रेफिक सब इंस्पेक्टर वसंत राठवा का यह कहना है कि,” जाकिर की समस्या एकदम अलग है। वह कानून का सम्मान करने वाले व्यक्ति हैं। जाकिर की समस्या अनोखी है इसलिए अब उनका चालान नही काटते हैं।

Leave a Comment