प्लान क्रैश होने के बाद पक्षियों के अंडे खाकर 5 हफ्तों तक जंगल में जिंदा रहा पायलट जानें उसके बाद क्या हुआ

दोस्तों! यह तो हम सभी जानते हैं कि एक पुरानी कहावत है ‘जाको राखे साइयां,मार सके ना कोय’। यह कहावत एंटोनियो सेना नाम के एक 36 साल के पायलट के लिए बिल्कुल सही साबित हुआ जो प्लेन क्रैश की वजह से एमेजॉन की जंगलों में फँस गए थे| हैरान कर देने वाली बात तो यह थी कि सोचिए उनके लिए कितना मुश्किल होगा जब वह 5 हफ्तों से एमेजॉन के जंगलों में कई पक्षियों के अण्डे और जंगली फल खा कर अपना गुजारा कर रहे थे|

 

एक प्लेन क्रैश के बाद एंटोनियो बहुत ही बुरी तरह से एमेजॉन के जंगलों में फँस गए थे जहाँ कुछ समय प्लेन के पास बिताने के बाद वे जंगल के पक्षियों और फलों पर निर्भर हो गए थे| बता दें कि उनके लापता होने की खबर ने रेस्क्यू टीम को तुरंत अलर्ट कर दिया और टीम उन्हें ढुंढते हुए जंगल में पहुँच गई|

 

 

आपको जानकर हैरानी होगी कि प्लेन क्रैश के एक हफ्ते बाद ही एंटोनियो जंगल में मदद के लिए घुमते रहे इसीलिए जब वे रेस्क्यू टीम से मिले तो बहुत भावुक हो गए थे|

बता दें कि जंगल में इतने हफ्ते रहने के बाद उनकी सेहत भी खराब हो गई थी| तबियत खराब होने के कारण उनकी वजन में भी काफी कमी आ गई, जिसके कारण उन्हें तुरंत हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया|

हल्की चोट और डीहाईड्रेशन के कारण उनकी तबियत बिगड़ी थी लेकिन वे जल्दी ही स्वस्थ्य होकर अस्पताल से घर चले गए| बता दें कि वापस आने के बाद एंटोनियो ने सबको बताते हुए कहा कि उनके वापस आने में सबसे बड़ी ताकत उनका परिवार जिसे याद कर के वे इतने दिन उस जंगल में गुजार सके| उनका कहना था कि अपने परिवार से दोबारा मिलने की इच्छा ने उन्हें वह ताकत दी जिसके कारण वे हारे नहीं और वापस आने का पूरी कोशिश की|

Leave a Comment