जानिए कौन हैं 21 साल की आरती तिवारी,बनने वाली हैं सबसे कम उम्र की जिला पंचायत अध्यकक्ष

 

दोस्तों! अब तक आपने अलग-अलग उम्र एवं उम्र दराज के लोगों को पंचायत अध्यक्ष बनते देखा होगा लेकिन आज हम आपको आरती तिवारी के बारे में बताने वाले हैं, जिनकी उम्र केवल 21 वर्ष ही है और वह पंचायत के अध्यक्ष के रूप में कार्य करने वाली है। आरती तिवारी सबसे पहले जिला पंचायत की सदस्य बनी और उसके बाद वह जिला पंचायत की अध्यक्ष निर्विरोध बनने जा रही है। यह बात सोचने वाली है कि आरती इस बार यूपी में सबसे कम उम्र की पंचायत अध्यक्ष बन रही है।

सबसे कम उम्र की अध्यक्ष बनने का रिकॉर्ड बनाएंगी ये बीजेपी प्रत्याशी

उत्तर प्रदेश के जिले के पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में 18 जिलों में सिर्फ और सिर्फ एक ही प्रत्याशी मैदान में है, इनका निर्विरोध चुना जाना तय है। आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि आरती तिवारी बीजेपी की अकेली उम्मीदवार है।

Aarti Tiwari Kaun Hai: Exclusive: 21 साल की आरती को BJP ने दिया इतना बड़ा  पद कि पूरे देश में हो रही है चर्चा, परिवार में हैं 22 सदस्य| Know who is

आरती तिवारी के खिलाफ विपक्षी दल के किसी भी लोगों ने उनका नामांकन नहीं किया है। आरती तिवारी b.a. थर्ड ईयर की छात्रा है और आज वह सबसे कम उम्र की जिला पंचायत अध्यक्ष बनने का खिताब पाने वाली है। आरती तिवारी महारानी लाल कुंवारी स्नातकोत्तर महाविद्यालय की छात्र है, जो बलराम जिले में स्थित है।

आरती तिवारी सबसे कम उम्र की जिला पंचायत अध्यक्ष बनेंगी

श्याम मनोहर तिवारी आरती तिवारी के चाचा हैं जो बीजेपी के नेता के रूप में जाने जाते हैं। बता दें कि पहले बीजेपी ने उन्हें ही पंचायत अध्यक्ष का टिकट दिया था लेकिन काफी उलट फेर होने के बाद उन्होंने अपनी भतीजी आरती तिवारी को पंचायत अध्यक्ष के लिए खड़ा कर दिया और काफी मेहनत के बाद वह पचासी सौ मतों से जीत कर सदस्य बन गई। ऐसे में बीजेपी ने आरती तिवारी को जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित कर दिया है।

आरती तिवारी के चाचा हैं बीजेपी के कर्मठ कार्यकर्ता

आरती तिवारी कहती है कि बीजेपी ने उन्हें जो जिम्मेदारी सौंपी है, उसे वह बखूबी निभाएगी। उनके इस कार्य से उनके माता-पिता को आरती तिवारी पर गर्व है।

Leave a Comment