अनाथ बेटी ने बांधी थी राखी, दरोगा ने कुछ इस तरह निभाया राखी का कर्त्तव्य

 

आपको तो पता ही होगा कि लोगों के मन में पुलिस को लेकर हमेशा अलग अलग विचार रहते हैं। कई लोग पुलिस की नौकरी को खराब बताते हैं तो कई लोग पुलिस की नौकरी को अच्छा बताते हैं। वैसे बता दें कि पुलिस का काम जानलेवा तो होता है। कई लोग जो पुलिस में होते हैं बहुत अच्छे अच्छे काम कर जाते हैं, जिससे लोग सदैव वही याद रखते हैं लेकिन कई पुलिस वाले ऐसे होते हैं जो कुछ ऐसा कर गुजरते हैं जिससे लोग हमेशा उन्हें बद्दुआ देते हैं। ऐसे में दो चार पुलिसवालों की गलत चीजों को देखकर पूरे पुलिस फोर्स को गलत नहीं कहना चाहिए क्योंकि उनमें से कई पुलिस वाले अच्छे होते हैं।

Rakhi: The Thread Which Binds | City News Nagpur | Live News Nagpur

यहां हम आपको एक ऐसे खबर से रूबरू कराने वाले हैं जिससे पुलिसकर्मियों को देखने का आपका नजरिया ही बदल जाएगा। आज हम आपको एक ऐसे पुलिसवाले के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने समाज को एक अनूठा संदेश दिया है।

A meaningful Rakhi gift

हर पुलिसकर्मी का यह फर्ज होता है कि हमेशा वह जनता की सुरक्षा करें लेकिन हनुमंत तिवारी अपनी जनता की सुरक्षा तो करते ही हैं और कभी-कभी बेसहारा लोगों का सहारा भी बन जाते हैं। बता दें कि हनुमंत लाल तिवारी उस समय चर्चा में आए जब उन्होंने अपने मुंह बोली बहन की शादी बहुत ही ज्यादा धूमधाम से मनाई।

अनाथ बेटी ने कभी बांधी थी राखी, दरोगा हनुमंत तिवारी ने शादी के खर्चों का  जिम्मा उठा निभाया राखी का फर्ज - Falana Dikhana

गौरतलब है कि यह काम उत्तर प्रदेश के लखीमपुर कस्बा सिकंदराबाद महुआ की है। बता दें कि यहां के निवासी विचल त्रिवेदी की मौत हो गई, जिसके बाद उनका पूरा परिवार बिखर गया। इस बिखरते हुए परिवार को सहारा मिला एक कस्बे की चौकी पर तैनात प्रभावी हनुमंत लाल तिवारी का।

rakhi - Wiktionary

बता दें कि उन्होंने विचल त्रिवेदी की बेटी को अपनी बहन माना और उससे राखी बंधवा ली। अपनी मूंह बोली बहन की शादी के वक्त हनुमंत तिवारी ने बड़े ही धूमधाम से उनकी शादी की। बता दें कि त्रिवेदी की बेटी का नाम अनीता है। यह घटना जब आग की तरह फैली तब हनुमंत तिवारी को ऊंचे पद में बैठा दिया गया।

Leave a Comment